Success Story Of IAS Topper Gautam Goyal Who Clears UPSC Exam In His 2nd Attempt In 2018

By | February 20, 2021

Success Story Of IAS Topper Gautam Goyal: हर साल बड़ी संख्या में कैंडिडेट्स यूपीएससी परीक्षा देते हैं. इनमें से कुछ का चयन तो हो जाता है लेकिन कुछ अपनी तरफ से पूरे प्रयास करने के बावजूद खाली हाथ ही रह जाते हैं. साल 2018 में यूपीएससी सीएसई परीक्षा पास करने वाले गौतम गोयल भी यह बात जानते थे. पर बावजूद इसके उन्होंने अपना जमा-जमाया बढ़िया करियर छोड़कर यूपीएससी की राह पकड़ी और शुरुआत में असफल होने के बाद अंततः सफल हुए. दरअसल गौतम ने रिस्क लिया तो लेकिन कैलकुलेटेड.

वे इस फील्ड में किस्मत आजमाने के पहले अपना करियर सेट कर लेना चाहते थे. हालांकि यूपीएससी परीक्षा में बैठना उनका बचपन का सपना था पर इसमें उतरने से पहले गौतम ने बिट्स पिलानी से ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन पूरा किया. इसके बाद वे एक बढ़िया नौकरी भी करने लगे. करियर के इतने पड़ाव पार करने के बाद गौतम ने यूपीएससी सीएसई परीक्षा देने का मन बनाया. हालांकि पूरी तैयारी के बावजूद गौतम का पहले प्रयास में सेलेक्शन नहीं हुआ. लेकिन इस असफलता से निराश होने की जगह गौतम ने सीख ली और दूसरे ही प्रयास में परीक्षा की तीनों स्टेजेस पार कर लिए. दिल्ली नॉलेज ट्रैक को दिए इंटरव्यू में गौतम ने अपने सफर के बारे में बात की.

पहले प्रयास की गलती –

गौतम कहते हैं कि उनके पहले अटेम्प्ट की गलती यह थी कि उन्होंने ठीक से आंसर राइटिंग प्रैक्टिस नहीं की थी. इस वजह से मेन्स में उनके अच्छे अंक नहीं आए. वे उत्तरों को जिस तरह से लिखना था वैसा नहीं लिख पाए. हालांकि इस साल गौतम ने इंडियन फॉरेस्ट सर्विस एग्जाम भी दिया था, जिसमें वे न केवल सफल हुए थे बल्कि टॉपर भी बने थे. गौतम के नाम पहले भी कई तरह के रिकॉर्ड रह चुके हैं. अपने कॉलेज में गौतम का प्रदर्शन इतना अच्छा था कि उन्हें वहां से निकलते ही एक बड़े पैकेज पर नौकरी मिल गई थी. हालांकि अपने पिताजी से इंस्पायर गौतम ने जॉब छोड़ दी और इस फील्ड में किस्मत आजमाने आ गए. गौतम के पिताजी सरकारी अफसर हैं और बचपन से ही गौतम उनके जैसा कोई काम करना चाहते थे. इस विचार के साथ ही वे यूपीएससी के क्षेत्र में आए और दूसरे प्रयास में मंजिल तक पहुंच गए.

यहां देखें गौतम गोयल द्वारा दिल्ली नॉलेज ट्रैक को दिया गया इंटरव्यू – 

  

ऐसे बढ़ाएं अपने उत्तरों का स्तर –

गौतम आंसर राइटिंग के लिए टिप्स देते हुए कहते हैं कि अपने उत्तरों की शुरुआत जितनी अच्छी हो सके करें. इससे एग्जामिनर पर आपका पहला इंप्रेशन ही अच्छा पड़ता है. जो प्रश्न जितने अंक का हो, उसे उसी हिसाब से समय दें. हालांकि अपने हर उत्तर में कुछ ऐसा लिखें जो उसे विशेष बनाए. जैसे डायग्राम्स, फिगर्स, फैक्ट्स, कोट्स, एनिकडोट, चार्ट्स, फ्लो-चार्ट्स, मैप्स, टेबल्स आदि. ये आपके उत्तरों की वैल्यू बढ़ाते हैं. एक बात का और ध्यान रखें कि उत्तर लिखने की हड़बड़ी न करें और जो पूछा गया है वह ठीक से समझने के बाद ही आंसर लिखें. कहने का मतलब है कि मुद्दे से न भटकें और न ही जो आता है वह लिखें बल्कि जो पूछा गया है वह लिखें.

इसके अलावा अन्य सुझावों में से कुछ हैं कि आंसर्स में सबहेडिंग्स लिखें, कुछ जरूरी है तो उसे अंडरलाइन करें. यह सब अभ्यास से आएगा. बीच-बीच में अपने उत्तरों को दूसरों से कंपेयर भी करते रहें और जो कमी दिखे उसे दूर करते चलें. इन बातों का ध्यान रखकर आप भी सफलता पा सकते हैं.

IAS Success Story: तीन साल, तीन प्रयास, तीनों में सफल, इस स्ट्रेटजी से आकाश ने पूरा किया IAS बनने का सपना   

Education Loan Information:
Calculate Education Loan EMI

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *