NEET 2021: This Year, Some Changes Have Been Made In The Question Paper From The Application Process In NEET 2021, Know Here

By | August 5, 2021

NEET 2021, अंडरग्रेजुएट मेडिकल एंट्रेंस टेस्ट 11 सितंबर को आयोजित किया जाएगा. इस साल नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने एग्जाम पैटर्न और एग्जाम प्रोसेस में कुछ बदलाव किए हैं. इनमें नए कार्यक्रमों की शुरूआत, आवेदन प्रक्रिया में बदलाव, प्रश्न पत्र आदि शामिल हैं. उम्मीदवार NEET UG 2021 के लिए आधिकारिक वेबसाइट neet.nta.nic.in पर आवेदन कर सकते हैं. हाल ही में आवेदन विंडो ओपन किए जाने की तारीख भी 10 अगस्त तक बढ़ा दी गई है. पहले आवेदन की समय सीमा 6 अगस्त थी. चलिए जानते हैं इस साल NEET 2021 एग्जाम में चार नए बदलाव क्या किए गए हैं.
 
1-NEET 2021 आवेदन दो फेज में होगा
NTA ने नीट 2021 आवेदन प्रक्रिया को दो फेज में डिवाइज किया है ताकि “उम्मीदवार डेटा जल्द से जल्द जमा किया जा सके.” फिलहाल पहला फेज चल रहा है. दूसरे फेज की आवेदन विंडो परीक्षा के बाद और परिणाम से पहले खोली जाएगी.

2- NEET 2021 पेपर में होंगे ऑप्शनल प्रश्न
नीट 2021 के क्वेश्चन पेपर में ऑप्शनल प्रश्न होंगे लेकिन सवालों की संख्या और टोटल मार्क्स में बदलाव नहीं किया गया है. इस बार NEET में इंटरनल च्वाइस दी गई है. प्रश्न पैटर्न के मुताबिक नीट 2021 में शामिल तीन विषयों भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित में दो सेक्शन होंगे. ए और बीय पहले सेक्शन में 35 अनिवार्य प्रश्न होंगे जबकि दूसरे सेक्शन में 15 प्रश्न होंगे जिनमें से स्टूडेंट्स को किसी भी 10 प्रश्न का जवाब देना होगा.

3- NEET 2021 BSc नर्सिंगलाइफ साइंसेज के लिए इस्तेमाल किया जाएगा
नीट 2021 बुलेटिन में दी गई जानकारी के अनुसार, पहली बार मेडिकल परीक्षा का इस्तेमाल बीएससी नर्सिंग और लाइफ साइंसेज प्रोग्राम में छात्रों के एडमिशन के लिए किया जाएगा. जिपमर, बीएचयू जैसे संस्थानों ने इस संबंध में नोटिफिकेशन भी जारी कर कहा है कि इन कोर्से के लिए अलग से कोई प्रवेश परीक्षा नहीं होगी. वहीं एनटीए ने कहा कि दिल्ली विश्वविद्यालय से एफिलिएटेड नर्सिंग कॉलेजों से उन्हें भाग लेने वाले कॉलेजों की सूची में शामिल करने के लिए स्पेसिफिक रिक्वेस्ट मिली है और इसलिए, आवेदन की समय सीमा बढ़ा दी गई है.

4- NEET 2021 OBS, ईडब्ल्यूएस रिजर्वेशन
 NTA ने एक रिवाइज्ड नोटिफिकेशन जारी किया है, जिसमें NEET 2021 में रिवाइज्ड OBC, EWS कोटा रिजर्वेशन योजना का जिक्र है. एनटीए ने एक बयान में कहा है कि,“भारत सरकार द्वारा  ओबीसी को 27% आरक्षण (नॉन-क्रीमी लेयर) और ईडब्ल्यूएस को 10% कोटा दिया जाएगा. वहीं सभी सरकारी एमबीबीएस या बीडीएस कॉलेजों में कुल सीटों में से 15 प्रतिशत सीटें अखिल भारतीय कोटा (AIQU)सीटों के लिए आरक्षित होंगी. यह आरक्षण वर्तमान शैक्षणिक सत्र 2021-22 से प्रभावी होगा. ”

ये भी पढ़ें

ICSI CS Foundation Exam 2021: CS फाउंडेशन परीक्षा 2021 के लिए नोटफिकेशन जारी, जानें पूरा शेड्यूल

IIM CAT 2021: आवेदन फॉर्म भरते समय इन 7 गलतियों से बचने के लिए फॉलों करें ये Tips

 

Education Loan Information:
Calculate Education Loan EMI

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *