IAS Success Story Faced Many Challenges And Financial Crisis In Childhood Finally Ankush Kothari Passed UPSC

By | May 29, 2021

Success Story Of IAS Topper Ankush Kothari: अगर आप जिंदगी में कुछ करने की ठान लें, तो आप तमाम परेशानियों के बावजूद अपना लक्ष्य हासिल कर सकते हैं. आज आपको यूपीएससी सिविल सर्विस परीक्षा 2019 में ऑल इंडिया रैंक 429 हासिल करने वाले अंकुश कोठारी की कहानी बताएंगे, जो बेहद प्रेरणादायक है. उन्होंने बचपन से लेकर यूपीएससी की तैयारी करने तक काफी मुसीबतों का सामना किया, लेकिन अपने सपने को पूरा करने के लिए उन्होंने कड़ी मेहनत की. आखिरकार उनका सिविल सर्विस का सपना तीसरे प्रयास में पूरा हो गया. 

माता-पिता हो गए थे अलग
अंकुश बहुत छोटे थे, जब उनके माता-पिता अलग हो गए. ऐसे में उनका पालन पोषण उनकी मां ने किया. उनकी मां एक प्राइवेट स्कूल में पढ़ाती थीं और अंकुश का ख्याल भी रखती थीं. तमाम जिम्मेदारियों के बीच उन्होंने अंकुश को अच्छी शिक्षा दिलाई. अंकुश ने बचपन में कई परेशानियों का सामना किया और कई बार आर्थिक तंगी भी देखी. हालांकि अंकुश पढ़ाई में काफी होशियार थे. इंटरमीडिएट पास करने के बाद उन्होंने घर पर रहकर आईआईटी के एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी की और पहले प्रयास में परीक्षा पास भी कर ली. इसके बाद उन्हें आईआईटी कानपुर में दाखिला मिल गया. यहां से उन्होंने ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की. 

इंटर्नशिप के दौरान अधिकारियों से हुए प्रभावित
जब अंकुश आईआईटी से अपनी ग्रेजुएशन कर रहे थे, उस वक्त इंटर्नशिप के दौरान उनकी मुलाकात कई आईएएस अफसर से हुई. उनकी कार्यशैली देखकर वे बहुत प्रभावित हुए और उन्होंने यूपीएससी में जाने का मन बना लिया. कॉलेज के बाद उन्हें सालाना 19 लाख रुपये की नौकरी का ऑफर मिला लेकिन उन्होंने ठुकरा दिया. इसके बाद उन्होंने तैयारी शुरू कर दी. शुरुआती 2 प्रयासों में वे असफल हुए, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी. आखिरकार तीसरे प्रयास में उनका सपना पूरा हो गया. 

यहां देखें अंकुश कोठारी का दिल्ली नॉलेज ट्रैक को दिया गया इंटरव्यू

अन्य कैंडिडेट्स को अंकुश की सलाह
आपको जानकर हैरानी होगी कि अंकुश ने यूपीएससी की तैयारी के दौरान किसी भी तरह की कोचिंग नहीं ली. सेल्फ स्टडी की बदौलत उन्हें यहां सफलता मिली. अंकुश का मानना है कि यूपीएससी परीक्षा पास करने के लिए तीन चीजों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है. पहला स्मार्ट वर्क, दूसरा हार्ड वर्क और तीसरा पेशेंस (धैर्य). उनका मानना है कि अगर आप स्मार्ट तरीके से धैर्य रखकर कड़ी मेहनत करेंगे, तो आप इस परीक्षा में जरूर सफलता प्राप्त कर लेंगे.

यह भी पढ़ेंः IAS Success Story: लाखों की नौकरी छोड़कर UPSC की तैयारी की, फेल होने पर भी नहीं मानी हार, इस तरह नेहा बनीं टॉपर

Education Loan Information:
Calculate Education Loan EMI

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *